Mission & Vision

अखिल भारतीय चमार महासभा के उद्देश्य तथा लक्ष्य

1. महासभा चमार समाज की विभिन्न जातियों का एक समूह बनाकर एक ही जाति बनाने का प्रयास करेगी।

2. महासभा चमार समाज पर होने वाले उत्पीड़न व अत्याचारों को रोकने के लिए व न्याय के लिए सैंवधानिक प्रभावशाली कार्य करेगी, महासभा आवश्यकता पड़ने पर, समाज को पेश आने वाली कठनाईयों व समस्यों को सम्बन्धित सरकार व प्रशासन के सामने रखने के साथ-साथ राष्ट्रीय स्तर व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर उठाकर उनका निराकरण करवाने का भरसक प्रयास करेगी।

3. महासभा चमार समाज में व्यापत सामाजिक कुरीतियों जैसे दहेज प्रथा, मृत्यु भोज, बाल विवाह व अन्ध विश्वास को समाप्त करेगी।

4. महासभा चमार समाज में व्यापत शराब व अन्य नशे की आदतों की बुराइयों को दूर कर एक स्वस्थ समाज की स्थापना करेगी।

5. महासभा बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित करेगी तथा समाज के गरीब बच्चों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में आर्थिक सहायता उपलब्ध करायेगी। महासभा रोजगार व नैतिक प्रेरक शिक्षा के लिए आवश्यकता अनुसार अपने शिक्षण संस्थान भी खोलने का प्रबन्ध करेगी।

6. महासभा समाज के महापुरुषों की याद में सभाऐं आयोजित करेगी, तथा उनकी शिक्षाओं का प्रचार प्रसार करने के लिए समाज जाग्रति कैडर कैम्पस तथा समाज में करुणा, मैत्री व शील स्थापित करने के लिए धम्म देशनाऐं आयोजित करेगी। महापुरुषों के नाम से पुस्तकालयों व गरीब छात्रों के लिए छात्रावासों का निर्माण करवाऐगी।

7. महासभा समाज की भलाई के कार्यों के लिए भवन आदि का निर्माण करवाऐगी, जिसके लिए महासभा राष्ट्रीय स्तर पर देश के जिन जिन राज्यों में कार्य करेगी, उन राज्यों की सरकार से प्रत्येक जिला स्तर पर दो एकड़ व तहसील या खण्ड स्तर पर एक एकड़ जमीन की मांग करेगी।

8. महासभा चमार समाज के बेरोजगार युवक व खासकर युवतियों के लिए विशेष व्यवसायिक प्रशिक्षण जैसे कोचिंग केंद्र सिलाई कढ़ाई केंद्र व अन्य रोजगार से जुड़े केंद्र स्थापित करने की व्यवस्था करेगी।

9. चमार समाज की गरीब लड़कियों की शादियों में आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाने की व्यवस्था करेगी।

10. महासभा चमार समाज के प्रतिभावान बच्चों का उत्साह बढ़ाने के लिए सम्मान समारोह आयोजित करेगी।

11. महासभा चमार समाज के लोगों में आपस में पैदा होने वाले द्वेष को समाप्त कर भाईचारा स्थापित करेगी तथा परिवारिक झगड़ों को निपटा कर स्वच्छ समाज की स्थापना करेगी।

12. महासभा चमार समाज के विकास के लिए सरकार से, अन्य संस्थाओं व व्यक्तियों से आर्थिक सहायता प्राप्त करेगी।

13. महासभा तथागत बुद्ध के करूणा, मैत्री व प्रज्ञा के मार्ग, बाबा साहेब डा0 अम्बेडकर के मिशन शिक्षा-संघर्ष-संगठन तथा गुरू रविदासी जी व कबीर जी के क्रांतिकारी विचारों का चमार समाज में प्रचार-प्रसार करेगी।

14. महासभा भारतीय सेना में चमार रैजीमैण्ट को पुनः स्थापित करवाने का पूरा प्रयत्न करेगी तथा इसकी स्थापना के लिए व्यवस्थित तरीके से आन्दोलन चलाऐगी।

15. महासभा विपदा के समय लोगों की सहायता करेगी तथा देश में भाईचारा स्थापित करने में भरपूर सहयोग करेगी।

हंस राज Ph. 9416166616

संस्थापक सदस्य एवं प्रदेश महासचिव